शार्ट मोरल स्टोरी इन हिंदी फॉर चाइल्ड 10 Best New Stories

शार्ट मोरल स्टोरी इन हिंदी फॉर चाइल्ड

शार्ट मोरल स्टोरी इन हिंदी फॉर चाइल्ड : यहाँ आप दस बेहतरीन मॉरल स्टोरी पढ़ सकते हैं। यहाँ हमने कुछ ऐसी चुनिंदा कहानियों का संकलन किया है जो कि बच्चों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण हैं। इसके साथ ही इसे हर किसी उम्र के लोग भी पढ़ सकते हैं। यह कहानियाँ न सिर्फ मनोरंजन के लिए हैं। बल्कि आप इनसे नैतिक शिक्षा भी ले सकते हैं। तो चलिए शुरू करते हैं हम नई और बेहतरीन मॉरल कहानियों का कारवां। आशा करते हैं यह कहानियाँ आपको जरूर पसंद आएंगी।

यदि फिर आपको लगे कि यह कहानियाँ अच्छी नहीं हैं, या फिर आप इन्हें पहले से पढ़ चुके हैं, तो आप इन कहानियों के नीचे की नीले कलर की लिंक पर क्लिक करके और कहानियाँ भी पढ़ सकते हैं।x

शार्ट मोरल स्टोरी इन हिंदी फॉर चाइल्ड

एक गांव में राम और लखन नाम के दो मछुआरे रहते थे। वह पास के एक गांव से हर रोज मछलियां पकड़ कर लाते, और फिर उन्हें बेचा करते थे। दोनों की दुकानें गांव में एकदम साथ बनी हुई थी। एक दिन राम की दुकान पर एक बूढ़ी औरत मछलियां खरीदने के लिए आई, और भाव पूछने लगी। तो राम ने बूढ़ी औरत को बताया कि अच्छी बड़ी-बड़ी मछलियां हैं। ₹200 किलो में आपको दे दूंगा, लेकिन बूढ़ी औरत ने जवाब दिया कि यह मरी मछलियां कौन तुमसे ₹200 में खरीदेगा? तभी लखन ने कहा कि आओ मां जी यही मछलियां मैं आपको ₹100 किलो में दे देता हूं।

जब बूढ़ी औरत लखन की दुकान पर गई तो वहां भी बूढ़ी औरत ने वही कहा कि, यह मरी मछलियां तो मैं ₹50 किलो मैं भी ना लूं। यह कहकर वह बूढ़ी औरत वहां से चली गई। तब राम, लखन के पास आकर बोला कि भाई यह तो सच बोल कर गई है। हम लोगों को धोखा दे रहे हैं। और मरी हुई मछलियों को रंग पॉलिश करके बेच रहे हैं। तभी लखन ने कहा कि यार सब चलता है, धंधा है। लेकिन राम को यह बात अंदर चुभ रही थी, कि वह अपने ग्राहकों के साथ गलत कर रहा है।

शाम हुई और दोनों ने अपनी दुकान बंद कर दी। और फिर दोनों अपने अपने घर चले गए। राम जब अपने घर पहुंचा तो उसकी छोटी 5 साल की बेटी उससे चिपक गई, और बोली पापा आज मुझे स्कूल से एक इनाम मिला है। आपको दिखाऊं, राम बोला, हां दिखाओ, तो राम की बेटी ने एक एक्वेरियम खोल कर दिखाया। यह छोटा सा एक्वेरियम मैं छोटी छोटी सी मछलियां तैर रही थी। हालांकि यह सभी आर्टिफिशियल था।

तभी राम के दिमाग में एक आईडिया आया। दूसरे दिन वह दो बड़े बड़े जार लेकर आया और उसमें उसने जीवित मछलियों को डाल दिया अब वह अपनी दुकान पर मरी मछली की बजाय जीवित मछलियों को बेचने लगा। उसकी बिक्री दोगुनी हो गई। सभी उसी से ही मछलियां खरीदने लगे, क्योंकि लोगों को अब जीवित मछलियां मिल रही थी। जबकि लखन का धंधा पूरी तरह चौपट हो गया। परेशान था अब क्या करें? तभी रात में लखन राम के घर पहुंचा और उसकी बहुत सारी मछलियां भर लाये।

सुबह जब राम ने अपना टेंट देखा तो उसमें बहुत ही कम मछलियां थीं। वह सोच में पड़ गया कि आखिर मछलियां कहां गई? खैर वह जितनी मछली बची थी, उन्हें लेकर दुकान पर पहुंचा तो हैरत में पड़ गया. क्योंकि लखन भी बगल में जीवित मछलियां बेच रहा था। उसने लखन से पूछा कि तुम्हारे पास यह जिंदा मछली ना कहां से आई? तो लखन बोला कि पकड़ कर लाया हूं तालाब से। राम को लखन पर शक हो गया, लेकिन उसने कुछ नहीं कहा।

शाम हुई दोनों ने अपनी दुकान बंद कर दी। और दोनों अपने अपने घर चले गए। लेकिन राम को लखन पर शक थ, कि वही उसकी मछलियां चुराता है। इस बार वह अपने घर पर छुपकर यह सब देखने लगा। लखन आया और उसकी मछलियां चुराने लगा। दूसरे दिन रात में राम ने अपने टैंक में एक बड़ी मछली डाल दी। जब लखन फिर से मछलियां चुराने आया तो उस बड़ी मछली ने लखन का हाथ पकड़ लिया। जैसे तैसे करके लखन ने मछली से अपना हाथ छुड़ाया और फिर वह कभी भी राम की मछलियां चुराने नहीं आया।

यह भी पढ़ें : Short Moral Stories in Hindi, Read 100 New Small Story

मोरल स्टोरी इन हिंदी फॉर चाइल्ड

यह भी पढ़ें : Moral stories in Hindi for class 8th कक्षा 8 कीं मॉरल कहानियाँ!

स्टोरी इन हिंदी फॉर चाइल्ड

यह भी पढ़ें : तेनाली राम और महाराज कृष्णदेव राय की कहानी Hindi moral stories

शार्ट मोरल स्टोरी इन हिंदी

यह भी पढ़ें : Akbar birbal short stories in Hindi ! Best 5 New Story

शार्ट मोरल स्टोरी इन हिंदी फॉर चाइल्ड

यह भी पढ़ें : लकी स्टोन का चमत्कार, सुजीत पहलवान और चमत्कारी अंगूठी की कहानी

यह भी पढ़ें : Friendship story in Hindi 21 Best Famous short stories for Friend’s

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *